Voting kaise kare | विधान सभा चुनाव में वोट कैसे करें

अन्य लोगों को शेयर करे

WhatsApp Group Join Now
Telegram Join Join Now

Voting kaise kare: क्या आप भी इस बार वोटिंग करने वाले है,या फिर इस नई टेक्नोलॉजी में 1st टाइम बोटिंग करने जा रहे हे, तो आप सभी एक बार बोटिंग कैसे करे की पूरी प्रोसेस जान ले।

भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है। यहाँ की संघीय सरकार प्रत्येक पाँच वर्ष के अंतराल पर चुनाव के माध्यम से चुनी जाती है। देश के नागरिक इस चुनावी प्रक्रिया में सीधे तौर पर भाग लेते हैं।

भारतीय संविधान के अनुसार देश में नियमित, स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव आयोजित करने का अधिकार निर्वाचन आयोग को प्राप्त है। चुनाव आयोजित करने एवं चुनाव के बाद के विवादों से संबंधित सभी विषयों को लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1950 एवं लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 के अंतर्गत सम्मिलित किया गया है।

Voting kaise kare

अगर आप भी वोट दे सकते हैं, लेकिन आपका नाम मतदाता सूची में शामिल हो. यह वोटिंग की पहली कंडीशन है। आप इस शर्त पर मतदान कर सकते हैं कि आपका नाम वोटर लिस्ट (जिसे मतदाता सूची भी कहा जाता है) में है। मतदाता मतदान केंद्र, चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों, चुनाव की तारीखों और समय, पहचान पत्र और ईवीएम की जानकारी भी देख सकते हैं।

विधान सभा चुनाव में वोट डालने के लिए दस्तावेज

अगर आपका मतदाता सूची में नाम है तो आप वोटर आईडी दिखाकर मतदान कर सकते हैं। हालांकि, मतदान करने के लिए आपके पास वोटर आईडी होना जरूरी नहीं। निर्वाचन आयोग ने मतदाता की पहचान सुनिश्चित करने के लिए कुछ अन्य फोटोयुक्त दस्तावेजों को मान्यता प्रदान की है, जिन्हें दिखाकर आप मतदान कर सकते हैं।

Voting kaise kare

मतदान केंद्र पर वोट देने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले मतदान अधिकारी आपका नाम मतदाता सूची में देखेंगे और आपके आईडी प्रूफ़ की जाँच करेंगे।
  • दूसरे मतदान अधिकारी आपकी उंगली पर स्याही लगाएंगे, आपको एक पर्ची देंगे, और एक रजिस्टर पर आपके हस्ताक्षर लेंगे (फ़ॉर्म 17 ए)
  • आपको पर्ची तीसरे मतदान अधिकारी के पास जमा करानी होगी और स्याही लगी अपनी उंगली दिखानी होगी. उसके बाद, मतदान केंद्र की ओर बढ़ना होगा
  • इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) पर अपनी पसंद के उम्मीदवार के चिह्न के सामने बटन दबाकर अपना वोट रिकॉर्ड करें; ऐसा करने पर आपको बीप की आवाज़ सुनाई देगी
  • वीवीपीएटी मशीन की पारदर्शी विंडो में दिखाई देने वाली पर्ची की जाँच करें. सीलबंद वीवीपीएटी बॉक्स में गिरने से पहले, उम्मीदवार के सीरियल नंबर, नाम, और चिह्न वाली पर्ची सात सेकंड तक दिखाई देगी
  • अगर आप किसी भी उम्मीदवार को पसंद नहीं करते हैं, तो आप नोटा, ‘उपर दिए गए में से कोई नहीं’ बटन दबा सकते हैं; यह EVM पर आखिरी बटन होता है।

ईवीएम पर बटन दबाते वक़्त क्या ध्यान रखना है?

  1. ईवीएम एक मशीन है जिस पर बटन के बगल में चुनाव में भाग ले रहे उम्मीदवारों के नाम लिखे होते हैं और साथ ही उनकी पार्टियों के चुनाव चिन्ह छपे होते हैं.
  2. उम्मीदवार का नाम उस इलाके में प्रचलित भाषा में लिखा होता है, जहां वोटिंग हो रही हो.
  3. उम्मीदवार की पहचान के लिए चुनाव चिन्ह दिया जाता है ताकि अनपढ़ मतदाताओं को सहूलियत हो.
  4. जब आप वोट देने के लिए तैयार हो जाएं, अपनी पसंद के उम्मीदवार के बगल वाला नीला बटन प्रेस करें.
  5. रुकिये… थोड़ा ठहर भी जाइए… इसका मतलब ये नहीं हुआ कि आपका वोट दर्ज हो गया है.
  6. ये तभी होगा जब आप बीप की आवाज़ सुन लें और ईवीएम की कंट्रोल यूनिट का इंडिकेटर बंद हो जाए.
  7. वीवीपैट मशीन की पारदर्शी विंडो में दिखाई देने वाली पर्ची की जांच करें। उम्मीदवार के क्रमांक, नाम और प्रतीक वाली पर्ची सीलबंद वीवीपैट बॉक्स में गिरने से पहले 7 सेकंड के लिए दिखाई देगी।
  8. यदि आपको कोई उम्मीदवार पसंद नहीं है तो आप NOΤΑ, उपरोक्त में से कोई नहीं दबा सकते हैं; यह ईवीएम का आखिरी बटन है आपने अपना वोट दे दिया है!

 


अन्य लोगों को शेयर करे

Leave a Comment