NewsEducationSchemeLoanRajasthan NewsBankingEmitraJobs

Rajasthan Coaching Institute New Guidelines | कोचिंग सेंटर न्यू गाइडलाइन्स जाने

By Rajasthanhelp

Published on:

अन्य लोगों को शेयर करे

WhatsApp Group Join Now
Telegram Join Join Now

Rajasthan Coaching Institute New Guidelines | कोचिंग सेंटर न्यू गाइडलाइन्स | coaching center new guidelines | Rajasthan Government Issued Guidelines For Coaching | Rajasthan कोचिंग सेंटर के लिए नई गाइडलाइन जारी

राजस्थान कोचिंग सेंटर न्यू गाइडलाइन्स: राजस्थान वासियों के लिए बहुत काम की खबर अब राजस्थान में कोचिंग संस्थानों पर नकेल कसने के लिए सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है। गाइडलाइन के अनुसार कोचिंग सेंटर को फेल होने वाले छात्रों को दूसरे करियर ऑप्शन भी बताने होंगे।

यानी कि Coaching Institute rajasthan वाले आपको पढाई में कमजोर रहने पर अन्य ऑप्शन की भी जानकारी देंगे जिस से राजस्थान के छात्र उचित करियर चुन सके।

Rajasthan Coaching Institute Guidelines

राजस्थान सरकार ने प्रदेश में बढ़ते कोचिंग माफिया पर नकेल कसने के लिए गाइडलाइन जारी की है। जिसके तहत प्रदेशभर में कोचिंग निगरानी समिति का गठन किया जाएगा। जिसमें पुलिस-प्रशासन के साथ अभिभावकों और डॉक्टर को भी शामिल किया जाएगा। वहीं स्टूडेंट्स की शिकायत के लिए ऑनलाइन पोर्टल बनाया जाएगा। जिसकी निगरानी मुख्यमंत्री स्तर पर की जाएगी।

मानसिक सम्बलन एवं सुरक्षा देने के उद्देश्य से कोचिंग सेंटर न्यू गाइडलाइन्स जारी

सीएम अशोक गहलोत ने प्रदेश में चल रहे कोचिंग संस्थानों में पढ़ रहे छात्रो को मानसिक सम्बलन एवं सुरक्षा देने के उद्देश्य से गाइडलाइन्स-2022 को जारी कर दी है। इस स्वीकृति से कोचिंग संस्थानों में पढ़ाई कर रहे छात्रों को टेंशन फ्री और सुरक्षित माहौल मिलेगा।

दिशानिर्देश में स्टूडेंट पर कंपटीशन एवं शैक्षणिक दबाव के कारण बढ़ते मानसिक तनाव एवं डिप्रेशन के निराकरण के लिए मनोचिकित्सकीय सेवा उपलब्ध करना, प्रवेशित तथा हॉस्टल में रहने वाले विद्यार्थियों की पूर्ण सुरक्षा, विद्यार्थियों के मानसिक स्वास्थ्य को मजबूत करने की व्यवस्थाएं, प्रशासन स्तर पर निगरानी तंत्र की व्यवस्था, कोचिंग छात्र-छात्राओं के लिए फैसिलिटी सेंटर, साफ-सफाई का बेहतर इंतजाम, कोचिंग संस्थानों में अध्ययन कर रहे विद्यार्थियों एवं उनके पैरेंट्स के लिए इंट्रोडक्शन प्रोग्राम का आयोजन, छात्रों की डेली रूटीन में साइबर कैफे की सुविधा आदि गाइडलाइन्स शामिल किए गए हैं।

यह भी पढ़े

Rajasthan Youth Budget 2023 | युवाओं व छात्रों को समर्पित होगा अगला बजट

Rajasthan Jan Aadhaar Card Registration 2023 | जन आधार कार्ड राजस्थान

Rajasthan Panchayat Election | राजस्थान पंचायत चुनाव 25 नवम्बर से शुरू

Rajasthan New District Name | राजस्थान में 6 नये जिले बना सकती है सरकार

Rajasthan Government Issued Guidelines For Coaching

Rajasthan Coaching Institute New Guidelines

छात्रों के लिए बनेगा ऑनलाइन पोर्टल
इसके साथ ही छात्रों की शिकायतों के लिए ऑनलाइन पोर्टल बनाया जाएगा। जिसकी निगरानी मुख्यमंत्री स्तर पर की जाएगी। कोचिंग छात्र-छात्राओं के लिए सुविधा केंद्र, साफ-सफाई का बेहतर प्रबंधन, कोचिंग संस्थानों के स्तर पर अपेक्षित कार्यवाही, कोचिंग संस्थानों में विद्यार्थियों और उनके अभिभावकों के लिए आमुखीकरण कार्यक्रम का आयोजन, विद्यार्थियों की दिनचर्या में साइबर कैफे की सुविधा आदि दिशा-निर्देश शामिल किए गए हैं।

Rajasthan Coaching Institute New Guidelines in hindi

  • कोचिंग संस्थानों में पढ़ रहे स्टूडेंट्स को आईआईटी और मेडिकल संस्थानों की प्रवेश परीक्षाओं में सफल ना होने की स्थिति में दूसरे करिअर ऑप्शन के बारे में बताया जाएगा।
  • स्टूडेंट्स के कोचिंग संस्थान छोड़ने की स्थिति में ईजी एक्जिट पॉलिसी और फीस रिफण्ड का प्रावधान किया गया है।
  • कोचिंग संसथान के खिलाफ स्टूडेंट्स की समस्या बताने के लिए एक कम्पलेन्ट पोर्टल बनाया जाएगा।
  • कोचिंग सेंटर में काम करने वाले सभी कर्मचारियों का पुलिस वेरिफिकेशन करना अनिवार्य होगा।
  • आवासीय कोचिंग चलाने वाले संस्थानों को सभी प्रकार के मूवमेंट का रिकॉर्ड मेंटेन करना होगा।
  • कोचिंग संस्थानों द्वारा झूठे और फर्जी (फेक) विज्ञापन दिखाकर छात्रों को बेवकूफ बनाने पर उनके खिलाफ सख्त करवाई की जाये।

सरकार के पास नही है पूरा कोचिंग सेंटर का रिकॉर्ड

राजस्थान का कोटा देशभर में कोचिंग हब के तौर पर मशहूर है। अकेले कोटा में हर साल 2 लाख से ज्यादा स्टूडेंट मेडिकल और इंजीनियरिंग की तैयारी करने के लिए आते हैं। वहीं जयपुर समेत प्रदेशभर में लगभग एक लाख कोचिंग सेंटर संचालित किए जा रहे हैं। जिसमें 5 लाख से ज्यादा कर्मचारी काम कर रहे हैं।

वहीं काफी कोचिंग सेंटर ऐसे भी है। जो गली-मोहल्ले में ही संचालित किए जा रहे है। जिनका सरकार के स्तर पर कोई रिकॉर्ड नहीं है। ऐसे में कोचिंग सेंटर्स पर निगरानी करने के साथ ही उनकी मनमानी पर लगाम लगाने के लिए अब सरकार एक्टिव हो गई है।


अन्य लोगों को शेयर करे

Related Post

Leave a Comment