राजस्थान बजट 2023 की झलक आयी सामने ,3 शब्दों को लेकर पूरे राजस्थान में चर्चा

अन्य लोगों को शेयर करे

WhatsApp Group Join Now
Telegram Join Join Now

राजस्थान बजट 2023 | Rajasthan budget 2023 live update | राजस्थान बजट थीम | राजस्थान का बजट | Rajasthan budget 2023 pdf download | Rajasthan ka Budget

राजस्थान बजट 2023: राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार 10 फरवरी को बजट पेश करेगी। तैयारियां पूरी हो गई हैं। सीएम अशोक गहलोत ने इस बार के बजट को- बचत, राहत और बढ़त- की थीम दी है। मुख्यमंत्री गहलोत के आदेश पर प्रदेशभर में इस थीम का प्रचार भी किया जाएगा। पूरे राजस्थान में बड़े बड़े पोस्टर लगाकर प्रचार किया जा रहा है।

बजट की थीम- बचत, राहत और बढ़त– रखकर सीएम ने अपने इरादे जाहिर कर दिए हैं। इन तीन शब्दों से साफ है कि मुख्यमंत्री चुनावी वर्ष के बजट के पीछे क्या सोच रखते हैं।

राजस्थान का बजट 2023 जाने

राजनीतिक इतिहास में पहला मौका है जब किसी सीएम ने ‘बजट से पहले बजट कैसा होगा और सरकार क्या चाहती है’ के बारे में पहले ही बहुत सी घोषणाएं कर दी हों।

राजस्थान बजट 2023 थीम

सूत्रों का कहना है कि चुनावी वर्ष है, इसलिए बहुत सी लोक-लुभावनी घोषणाएं तो संभव हैं ही, लेकिन सीएम लोगों के घर के बजट को संभालने-सुधारने पर फोकस कर रहे हैं। सीएम गहलोत दसवीं बार बजट पेश करेंगे।

राजस्थान का बजट में इस बार बहुत सी बड़ी घोषणाएं शामिल होने की खबर है जिनकी लिस्ट आपको नीचे मिल जायेगी।

Rajasthan budget 2023 theme

सीएम गहलोत के बजट की थीम- बचत, राहत और बढ़त- रखकर अपने इरादे जाहिर कर दिए हैं. इन तीन शब्दों से साफ है कि मुख्यमंत्री चुनावी साल के बजट के पीछे क्या सोच रखते हैं. अशोक गहलोत के इस तीन कोड में छिपा है राजस्थान के बजट का रहस्य जो आने वाले विधानसभा चुनाव के नतीजे तय करेंगे.

यह भी पढ़े

Rajasthan Budget 2023 Highlights | राजस्थान बजट की प्रमुख घोषणाएं जाने

New District In Rajasthan 2023 | राजस्थान के नये जिलों को लेकर बड़ी अपडेट

Rajasthan Agriculture Budget 2023 | राजस्थान कृषि बजट 2023 पीडीफ, किसानों मिली सौगाते

जयपुर में बजट को लेकर होर्डिंग ने मचाई खलबली 

इतना ही नहीं राजस्थान सरकार की ओर से जयपुर में बजट को लेकर होर्डिंग लगवाए गए हैं जो दूर से ही दिखाई देता है. इस होर्डिंग ने विरोधी खेमे में खलबली मचा दी है. इस होर्डिंग में टैगलाइन लिखा है, ‘‘बचत, राहत, बढ़त’’.  राजस्थान के बजट में अब से मात्र दिन दिन बचे है. 10 फरवरी को राजस्थान का बजट आ रहा है. इसमें ‘राजस्थान’ शब्द में रुपये के प्रतीक को शामिल किया गया है.

जनता की निगाहें राजस्थान के बजट पर

 

बता दें कि राजस्थान में सरकारी कर्मचारी लगातार पुरानी पेंशन योजना (Old Pension Scheme) लागू करने की मांग करते रहे थे. लेकिन सीएम अशोक गहलोत चौंकाने वाले फैसले के लिए जाने जाते है और इन्होंने कई बार साबित भी कर चुके हैं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बजट की घोषणा के साथ ही पुरानी पेंशन योजना को लागू करने का ऐलान कर दिया था. इस बार अशोक गहलोत के पास वित्त विभाग भी है. ऐसे में माना जा रहा है कि इनका बजट राजस्थान के नागरिकों के लिए सुकून भरा होगा. गहलोत कह चुके हैं कि आगामी बजट युवाओं और महिलाओं पर केंद्रित होगा और राज्य के लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने वाला होगा. गहलोत पहले ही ऐलान कर चुके हैं कि राज्य सरकार महंगाई के असर को कम करने के लिए गरीब परिवारों को 500 रुपये प्रति सिलेंडर की दर से साल में 12 सिलेंडर देगी.

 

हालांकि राजस्थान की सियासी पंडित और आंकड़े बताते है कि यहां हर पांच साल में सरकार बदल दी जाती है. हालांकि, कांग्रेस दावा कर रही है कि इस बार उनकी सरकार पर जनता फिर से भरोसा जताएगी. ऐसे में राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत की कोशिश है कि ऐसा बजट लाए जो जनता को अपनी तरफ खींच सके और राजस्थान में 5 साल में सरकार बदलने की परिपाटी को बदल सकें.


अन्य लोगों को शेयर करे

Leave a Comment